What is Domain Authority In Hindi

Domain authority kya Hai. डोमेन अथॉरिटी कैसे चेक करें।

What is Domain Authority In Hindi : क्या आप जानते हैं कि आपकी वेबसाइट का डोमेन अथॉरिटी (Domain Authority) क्या है , क्या आप जानते हैं कि डोमेन अथॉरिटी क्या होता है और डोमेन अथॉरिटी कैसे चेक करते हैं,
अगर आप अपनी वेबसाईट (Website) का डोमेन अथॉरिटी जानना चाहते हैं या डोमेन अथॉरिटी बारे में जानना चाहते हैं तो इस आर्टिकल (Article) को आप अच्छे से पढ़े :
आज हम इस आर्टिकल में डोमेन अथॉरिटी की पूरी जानकारी लेंगे और अपने डोमेन अथॉरिटी को कैसे बढ़ा सकते हैं और अपने डोमेन अथॉरिटी को कैसे चेक कर सकते हैं।

डोमेन अथॉरिटी क्या होता है? (What is Domain Authority In Hindi)

डोमेन अथॉरिटी जिसे हम लोग शर्ट टर्म (Short Term) में दीए(DA) के नाम से जानते हैं, और डोमेन अथॉरिटी एक ऐसा मेरिट (Merit) है जिसे मौज कंपनी (Moz Company) द्वारा बनाया गया था जिसका उद्देश्य सिर्फ वेबसाइट को 1 से 100 के अंदर का रेटिंग (Rating) देने के लिए बनाया गया है।

डोमेन अथॉरिटी आपके वेबसाइट को SEO के लिए बहुत महत्वपूर्ण फैक्टर (Factor) होता है जो वेबसाइट डोमेन अथॉरिटी के अच्छे रेटिंग (Rating) पर होता है वह सर्च इंजन (Search Engine) में अच्छे नंबर पर रैंक (Rank) करता है आपका वेबसाइट (Website) का डोमेन अथॉरिटी (DA) जितना ज्यादा रहेगा आपका वेबसाइट सर्च रिजल्ट में उतना ज्यादा रैंक करेगा सिंपल (Simple) में जितना ज्यादा अथॉरिटी उतना ज्यादा रिजल्ट ट्रैफिक (Traffic) मिलेगा।

डोमेन अथॉरिटी कैसे चेक करें? (How To Check Domain Authority?)

डोमेन अथॉरिटी (DA) को चेक करने के लिए आपको इंटरनेट (Internet) पर बहुत सारे टूल्स (Tools) मिल जाएंगे जिसके साथ आप अपने डोमेन अथॉरिटी को चेक कर सकते हैं और उसको इंप्रूव (Improve) करने की कोशिश कर सकते हैं जिससे आपको अच्छे खासे ट्रैफिक मिल सके और आपका डोमेन अथॉरिटी जितना ज्यादा रहेगा आपको सर्च इंजन से उतना ज्यादा ट्रैफिक मिलने की आशंका होती है।

डोमेन अथॉरिटी को मोज कंपनी (Moz Company) द्वारा बनाया गया था और मौज कंपनी के द्वारा फ्री में डोमेन अथॉरिटी चेक करने के लिए भी बताया गया है अभी तक इंटरनेट पर सबसे बढ़िया डोमेन अथॉरिटी चेक करने के लिए मौज कंपनी (Moz) चल रहा है नीचे मौज कंपनी का लिंक मिल जाएगा आप उसे ओपन करके अपने डोमेन अथॉरिटी चेक कर सकते हैं

इंटरनेट पर आपको बहुत सारे टूल्स मिल जाएंगे जिससे आप अपने डोमेन अथॉरिटी को आसानी से चेक कर सकते हैं।
आपको नीचे बहुत सारे पॉपुलर डोमेन अथॉरिटी चेकिंग टूल मिल जाएंगे जिनकी मदद से आप अपने डोमेन अथॉरिटी को आसानी से चेक कर पाएंगे तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करके आप डायरेक्ट चेक कर सकते हैं।

Links : What is Domain Authority In Hindi Checker List

1 : https://smallseotools.com/domain-authority-checker/

2 : https://websiteseochecker.com/domain-authority-checker/

3 : https://ahrefs.com/website-authority-checker

किसी भी वेबसाइट का डोमेन अथॉरिटी एक समान (Continuesly) नहीं रहता वह कभी बढ़ता है या फिर कभी घटता है अगर आपका वेबसाईट का डोमेन अथॉरिटी बढ़ रहा है तो आपके लिए काफी फायदे (Benefits) की बात हो सकती है अगर डीजे घट रहा है तो यह बहुत खराब हो सकता है इसके लिए आपको अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर दिए बढ़ाने के लिए ज्यादा से ज्यादा मेहनत करना चाहिए और अच्छे-अच्छे कॉन्टेंट अपनी वेबसाइट के जरिए पब्लिश (Published) करना चाहिए जिससे आपकी डोमेन अथॉरिटी बढ़ सकती है ।।।

डोमेन अथॉरिटी को कैसे बढ़ाएं? (How to Improve Domain Authority?)

अगर आपके ब्लॉग या वेबसाइट का डोमेन अथॉरिटी बहुत कम है तो नीचे दिए गए सिंपल स्टेप्स को फॉलो करके अपने वेबसाइट या ब्लॉग का डोमेन अथॉरिटी को बढ़ा सकते हैं जिससे आपको हाई रैंक (High Ranking) और सर्च इंजन (Search Engine) में आने का मौका मिल सके, जो आपके ब्लॉग (Blog) के लिए और ट्रैफिक लाने के लिए बहुत फायदे की बात हो सकती है अपने ब्लॉक के डोमेन अथॉरिटी को Increase करने के लिए कुछ काम आपके अपने ब्लॉग पर जरूर करना चाहिए।

check domain authority
What is Domain Authority In Hindi

1. रेगुलेरिटी (Regularity) :

आपके अपने ब्लॉग पर रेगुलर कंटेंट पब्लिश (Regular Content Published) करना चाहिए जिससे आपके ब्लॉग को गूगल (Google) के नजर में अच्छा Blog माना जाना चाहिए और आपको ब्लॉग पर रेगुलर कम से कम एक से दो आर्टिकल (1 -2 Article) तो जरूर पब्लिश करना चाहिए जिससे आपकी डोमेन अथॉरिटी बढ़ने का चांस (Chance) बढ़ सकता है।

2. लिंक बिल्ड (Link Building) :

लिंक बिल्डिंग डोमेन अथॉरिटी के लिए बहुत महत्वपूर्ण है लिंक बिल्डिंग करने के लिए आपको बैकलिंक (BackLinks) लेने की बहुत ज्यादा जरूरत पड़ सकती हैं हो सके कि आप जितना ज्यादा बैकलिंक्स (Backlinks) पाने की कोशिश करेंगे उतना ज्यादा आपकी डोमेन अथॉरिटी बढ़ने का चांस रह सकता है और वह बैकलिंक्स हाई क्वालिटी बैकलिंक्स (High Quality Backlinks) होना चाहिए , और जहां से बैकलिंक्स लेना है उसका डीए (DA) अच्छा खासा होना चाहिए जिससे आपके दिए (DA) को बढ़ाने में मदद कर सकती हैं।

3. Interlinking :

अपने ब्लॉग या वेबसाइट पर इंटरलिंकिंग (Interlinking) बहुत मजबूत करना चाहिए मतलब इंटरलिंकिंग करने के लिए अपने ब्लॉग के नए आर्टिकल पोस्ट (Article Post) को अपने पुराने आर्टिकल पोस्ट को इंटरलिंक (Interlink) करने के लिए अच्छे से इंटरलिंक करें जिससे आपके यूजर (User) उस इंटरलिंकिंग को जरूर देखें और उस इंटरलिंकिंग पर जरूर जाएं इंटरलिंकिंग करने के लिए सबसे ज्यादा आपको अपने ब्लॉग पर उन पोस्टों को Interlink करना चाहिए जो गूगल सर्च इंजन (Google Search Engine) के पेज (Page) पर ज्यादा रन (Rank) कर रहे हो उनके साथ Interlink करने से आपका इंटरलिंकिंग मजबूत होगा और आपका डोमेन अथॉरिटी (DA) बढ़ने के साथ-साथ आपके ट्रैफिक भी बढ़ जाएंगे।

4. स्पीड (Speed) :

अपने ब्लॉग या वेबसाइट को इतना अच्छे से डिजाइन (Design) करें कि वह कम से कम समय में फुल लोड (Full Loading Time) हो जाए यानी कि आपका वेबसाइट का स्पीड इतना ज्यादा होना चाहिए जितना जल्दी से वह वेबसाइट यूजर के सामने खुल सके जितना ज्यादा आपकी वेबसाइट के स्पीड होगा उतना ज्यादा high-ranking मिलने के चांस होता है जिससे आपके वेब साईट का डोमेन अथॉरिटी बढ़ने का बहुत बड़ा चांस बन जाता है।
और आपके साईट के विजिटर आपके वेबसाइट को डिजाइन (Design) और साइट लोडिंग स्पीड ( Site Loading Speed) को अच्छे से होगा तो आपके विजिटर आपके साइट को अच्छे से पसंद करने लगेंगे और वह अपने कुछ भी क्यूरी (Query) को आपके Site के साथ प्रीपेंस (Prepence) देने लगेंगे।।

5. SEO

आपको अपने वेबसाइट पर OFF PAGE SEO से ज्यादा आपको अपनी वेबसाइट पर ON PAGE SEO करने के लिए बहुत जरूरी होता है आपके वेबसाइट का जितना ज्यादा अच्छा ON PAGE SEO रहेगा गूगल सर्च इंजन में उसकी रैंकिंग (Ranking) बहुत अच्छे से होगी और आपका डोमेन अथॉरिटी बहुत तेजी से बढ़ने लगेगा।

SEO Kya Hai Aur SEO Kaise Kare?

6. ट्रेंडिंग टॉपिक क्वालिटी कंटेंट (Trending Topic) :

आपको अपनी वेबसाइट के नीच (Niche) के अनुसार ट्रेंडिंग टॉपिक का कंटेंट (Content) को ज्यादा से ज्यादा पब्लिश (Published) करना चाहिए जिससे आपके वेबसाइट स्टार्टिंग (Starting) में ही ज्यादा ग्रो (Growth) करने लगे और आपकी वेबसाइट का ट्रैफिक स्टार्टिंग से ही अच्छा खासा बनने लगे।

Best Free Keyboard Research Tools.

7. Remove Bad Link :

आपको अपनी साइट के BAD बैकलिंक्स को चेक करना चाहिए इंटरनेट पर बैकलिंक्स बेड बैकलिंक्स को चेक करने के लिए बहुत सारे टूल मिल जाएंगे चेक करने के बाद उन बैकलिंक्स को जितना जल्दी हो सके अपने वेबसाइट से रिमूव (Remove) कर लीजिए जिससे आपके डोमेन अथॉरिटी पर कोई फर्क ना पड़े।

8. मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट (Mobile Friendly Site) :

आपको अपने ब्लॉग या वेबसाइट को बहुत अच्छे से ऑप्टिमाइज (Optimize) करना चाहिए और मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट बनाकर ही पब्लिश करना चाहिए जिससे आपके यूजर को आपके वेबसाइट का इंटरफ़ेस (InterFace) ज्यादा अच्छा लगे और ज्यादा से ज्यादा आपकी वेबसाइट पर टाइम बताएं जिससे आपके सर्च इंजन में बैंकिंग के लिए बहुत सहायता करता है।

9. सोशल मीडिया (Social Media) :

आप क्या वेबसाइट का आर्टिकल सबसे ज्यादा आपको स्टार्टिंग में पॉपुलर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (Popular Social Media Platform) पर ज्यादा से ज्यादा शेयर (Share) करना चाहिए ।
जैसे कि आपको फेसबुक (Facebook) , टि्वटर (Twitter) , इंस्टाग्राम (Instagram) , लिंकडइन (Linkedin) , व्हाट्सएप (WhatsApp), ETC…

10 : इंतजार (Patience)

आपको ऊपर दिए गए सारे काम करने के बाद आपको सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण इंतजार करना चाहिए जब तक आपका ट्रैफिक बढ़ने लगेगा तब से आपका डोमेन अथॉरिटी (DA) भी इनक्रीस (INCREASE) होने लगेगा जिसके लिए आपको कम से कम 1 से 3 महीने (1-3 Month) तक का पेसेंस रखना पड़ेगा और अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर रेगुलरली (Regular) काम करते रहना चाहिए जिससे गूगल (Google ) के नजर में आप का वेबसाइट (Website) अच्छा बनने लगे

How to Increase Domain Authority In Hindi?

1. रेगुलेरिटी (Regularity)
2. लिंक बिल्ड (Link Building)
3. Interlinking
4.स्पीड (Speed)
5. SEO
6. ट्रेंडिंग टॉपिक क्वालिटी कंटेंट (Trending Topic) :
7. Remove Bad Link :
8. मोबाइल फ्रेंडली वेबसाइट (Mobile Friendly Site)
9. सोशल मीडिया (Social Media)
10. इंतजार ( Be Patience)।।।

डोमेन अथॉरिटी क्या है और इसको कैसे बढ़ाएं (What is Domain Authority?) & (How To Increase Domain Authority?)– अगर यह आर्टिकल (Article) आपको अच्छा लगा था नीचे कमेंट (Comment) करना ना भूले और हमारे वेबसाइट(Website) पर टेक्निकल(Technical) और कमाई( Earning ) के रिलेटेड (Related) और भी आर्टिकल लिखे हुए हैं जिन्हें आप पढ़ सकते हैं तब तक के लिए BYE:

Online Earning Kaise Kare In Hindi? : CLICK HERE

Instagram Se Paisa Kaise Kamaye? : CLICK HERE

Leave a Comment