SEO Kya Hai Aur SEO Kaise Kare?

एस सी ओ क्या है? (What Is SEO?) In Hindi!!!

सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन क्या है (What is Search Engine Optimization) और इसे कैसे करते हैं.
SEO Kya Hai Aur SEO Kaise Kare? : एस सी ओ (SEO) क्या है और यह आपके ब्लॉगिंग कैरियर (Blogging Career) के लिए महत्वपूर्ण क्यों है नए ब्लॉगर (Blogger) को हमेशा S.E.O की परेशानी होते हैं बढ़ती इस टेक्नोलॉजी (Technology) की दुनिया में आपके सामने ऑनलाइन (Online) एक ऐसा जरिया बन चुका है जहां से आप हर चीज को प्राप्त कर सकते हैं।

अगर आप कोई ब्लॉगर (Blogger) हो या कोई यूट्यूबर (Youtuber) हो जो टेक्निकल फील्ड (Technical Field) से कुछ सीखना चाहते हैं या अपने द्वारा किसी और को सिखाना चाहते हैं यह पोस्ट उन्हीं के लिए है इस पोस्ट में हम लोग SEO यानी सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) को अच्छे से जानेंगे और इसे कैसे किया जाता है इसके बारे में इस आर्टिकल में हम लोग बात करेंगे।

SEO Kya Hai Aur SEO Kaise Kare? Hindi Me.

सर्च इंजन (Search Engine) आप किसी वीडियो के माध्यम से या किसी आर्टिकल या कंटेंट द्वारा दूसरों तक अपनी बातों को पहुंचाना चाहते हैं उसमें आपको सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) की बहुत अहम भूमिका होती है.

अगर आप ऑनलाइन किसी भी प्लेटफार्म पर काम करते हैं तो आपको अपने प्लेटफार्म अपने पब्लिसिटी के लिए आपको ऐसी योग करना जरूरी होता है. जो आपने काम किया वह पेज या वह वीडियो दूसरों तक पहुंचाने के लिए एस यू बहुत जरूरी होता है.

सबसे ज्यादा एसीओ की भूमिका ब्लॉगिंग कैरियर में होता है ब्लॉगिंग में बहुत सारे कंपटीशन (Compitation) आ चुके हैं अगर आपको आर्टिकल ठीक तरीके से रैंक(Rank) नहीं करवा पाते हैं या वह एक नहीं कर पाता है या उसमें ट्रैफिक(Traffic)नहीं के बराबर आता है तो आपको इस आर्टिकल (Article)पर ज्यादा से ज्यादा उपयोग करने की जरूरत है ।

अगर आप ब्लॉगिंग में दिलचस्पी रखते हैं तो यह आपके लिए सीरियस (Serios) है कि आपको अपने ब्लॉगर बनने के लिए आपको सबसे ज्यादा SEO पर फोकस करना चाहिए।

SEO करने के लिए आपको बहुत सारे गाइडलाइंस (Guide Lines) मिल सकते हैं गूगल द्वारा आपको ऐसी Seoके फंडामेंटल (Fundamental) मिल सकता है जो हमेशा के लिए समान तरीके से होता है लेकिन यह जरूरी नहीं है कि नए ब्लॉगर्स को हमेशा उसी पर काम करना चाहिए बिल्कुल नहीं नए ब्लॉकर्स को अपनी खुद की SEO तकनीक को अपडेट (Update) करते रहना चाहिए.

SEO क्या है? (What is SEO?) IN HINDI.

SEO या सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) एक ऐसा टेक्निक है जिसके द्वारा आप अपने पेज के आर्टिकल को सर्च इंजन (Search Engine) के टॉप पेज में ला सकते हैं , सर्च इंजन वह होता है अगर आप कोई चीज गूगल पर सर्च करते हैं उसमें से जो टॉप रिजल्ट आता है उसे सर्च इंजन के टॉप रिजल्ट कहा जाता है अगर अपने आर्टिकल (Article) या पेज (Page) को सर्च इंजन के टॉप में लाना है तो आपको अपने ब्लॉग पर अच्छे से SEO का काम करना होगा ।
सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन (Search Engine Optimization) के मदद से अपने ब्लॉग (Blog) को गूगल सर्च इंजन (Google Search Engine) पर टॉप पोजीशन (Position) पर ला सकते हैं.

SEO Kya Hai Aur SEO Kaise Kare?

SEO करने से आप अपने ब्लॉग को गूगल के टॉप रैंकिंग (Top Ranking) पर ला सकते हैं यह तकनीक (Technic) जो आपके वेबसाइट (Website) को सर्च इंजन में सर्च इंजन के टॉप रिजल्ट पर सबसे ऊपर रखने में काम आता है जिससे आपको ज्यादा से ज्यादा विजिटर (Visitor) मिल सके और आपको ऑनलाइन अर्निंग हो सके और आप बढ़ती टेक्नोलॉजी की दुनिया में आप अच्छे ब्लॉगर बन सकें।

What is Full Form of “SEO” :

एस सी ओ (S.E.O) का फुल फॉर्म है “सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन” (Search Engine Optimization)

सर्च इंजन से फायदा यह है कि अगर आपका वेबसाइट या कोई ब्लॉक गूगल या किसी भी सर्च रिजल्ट के टॉप में आता है तो इंटरनेट यूजर (Internet User) सबसे पहले आपके साइट(Site) पर विजिट (Visit) करता है जिससे आपके साइट में ज्यादा से ज्यादा ट्रैफिक (Traffic) आने लगता है , और आपकी EARNING भी अच्छी होने लगती हैं , सर्च इंजन से आपके वेबसाइट पर ऑर्गेनिक ट्रैफिक बढ़ने लगता है और आपका वेबसाइट इंटरनेट में दौड़ने लगता है इसलिए SEO करना जरूरी है।

SEO क्यों जरूरी है?

BLOG के लिए SEO क्यों जरूरी है : एससीओ “सर्च इंजन ऑप्टिमाइजेशन” ब्लॉक के लिए सबसे ज्यादा इंपोर्टेंट (Important) क्योंकि SEO से आपका ब्लॉग सर्च इंजन में आने लगेगा.
Seo से मान लीजिए कि आपके पास आपका वेबसाइट है जिसमें आप अपने वेबसाइट पर अच्छे क्वालिटी कंटेंट पब्लिश (High Quality Content Published) कर रहे हैं लेकिन अगर आपने अपने वेबसाइट का s.e.o. अच्छे से नहीं किया तो आपका वेबसाइट पर नही विजिटर पहुंच पाएगा और ना ही आपका सर्च रिजल्ट में आ पायेगा, जिससे आपका वेबसाइट ठप हो सकता है।

SEO को समझना इतना भी मुश्किल नहीं होता है अगर आप अपने ब्लॉग के लिए आपने अच्छे से SEO सीखी हुई है तो अपने ब्लॉग को आप अच्छे वेबसाइट और बेहतर ब्लॉग बना सकते हैं और उसे सर्च इंजन में सर्च इंजन के Top पर बढ़ा सकते हैं , मार्केट में एस सी ओ का कोर्स (Course) बहुत हैं जिसे आप पैसा देकर भी सीख सकते हैं और मार्केट में बहुत सारे कंपनियां एस सी ओ कोर्स को फ्री में देती है आप उससे भी सीख सकते हैं या तो आप खुद का एक्सपीरियंस (Experience) बनाकर एक्सपर्ट (Expert) बन सकते हैं।

SEO कितने तरह का होता है? (Type of SEO?) IN HIDNI

देखा जाए तो एस सी ओ मैन दो ही तरह के होते हैं एक होता है ऑन पेज एस सी ओ (On P age SEO) और दूसरा होता है ऑफ पेज एस सी ओ (Off Page SEO) अगर आप अपने ब्लॉग के लिए यह दोनों एस सी ओ अच्छे से कर लेते हैं तो आपका ब्लॉग सर्च इंजन में आने लगेगा जिससे आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक बढ़ने लगेगा।

1• ऑन पेज एस सी ओ (ON PAGE SEO)
2• ऑफ पेज एस सी ओ (OFF PAGE SEO)
3• लोकल एस सी ओ (LOCAL SEO).

1. ON PAGE SEO कैसे करे?

ऑन पेज एस सी ओ में बहुत सारे एस सी ओ करना पड़ता है नीचे दिए गए सारे एस सी ओ को आप फॉलो करेंगे तो आपके वेबसाइट पर अच्छे खासे ट्रैफिक आने लगेंगे.

1. वेबसाइट डिजाइन और वेबसाइट स्पीड (Website Speed &Website Design)।
2. वेबसाइट नेविगेशन (Website Navigation)।
3. टाइटल टैग , टाइटल लेंथ (Tittle Tag , Tittle Length)।
4. इंटरनल लिंकिंग (Internal Link)।
5. पोस्ट यूआरएल (Post URL)।
6. अल्टरनेटिव टैग और मेटा डिस्क्रिप्शन (Alt Tag & Meta Description)।
7. हाई क्वालिटी कंटेंट (High Quality Content)।
8. हेडिंग और कीवर्ड (Heading & Keyword)।
9. इमेज ऑप्टिमाइजेशन (Image Optimization)।
10. साइटमैप सबमिशन (Sitemap Submission)।।।

2. OFF PAGE SEO कैसे करे?

ऑफ पेज एस सी ओ करने के लिए आपके अपने ब्लॉग से बाहर काम करना होता है ऑफिस इशू करने के लिए आपको अपने ब्लॉग का प्रमोशन (Promotion) , ब्लॉग को शेयरिंग (Sharing) और ब्लॉग को दूसरे वेबसाइट पर लिंक सबमिट करना होता है जिसे हम ब्लॉग बैकलिंक्स (Backlink) कहते हैं।

ऑफ पेज एस सी ओ करने के लिए आप सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म (Social Modia Platform)का इस्तेमाल कर सकते हैं जैसे कि फेसबुक (Facebook) , टि्वटर (Twitter), लिंकडइन (LinkedIn), इंस्टाग्राम (Instagram) और कोरा(Quora) जैसी वेबसाइट पर आप अपने पेज को शेयर (Share) करके अपने फॉलोअर (Follower) बढ़ा सकते हैं अपने फॉलोअर को अपनी वेबसाइट पर ज्यादा से ज्यादा का विज़िटर बढ़ा सकते हैं।

1. सर्च इंजन सबमिशन (Search Engine Submission)।
2. डायरेक्टरी सबमिशन (Directory Submission)।
3. सोशल मीडिया (Social Media)।
4 . क्वेश्चन एंड आंसर साइट (Question & Answer Site)।
5. ब्लॉग कमेंटिंग (Blog Commenting)।
6. गेस्ट पोस्टिंग (Guest Posting)।
7. वीडियो फोटो शेयरिंग (Video Photo Sharing)।
8. क्लासिफाइड सबमिशन ( Classified Submission)।
9. बुक मार्किंग (Bookmarking)।
10. पिन एंड प्रमोशन ( PIN & Promotion)।।।

LOCAL SEO

3. LOCAL SEO: एससीओ फील्ड में लोकलएससीओ उतना मायने नहीं रखता लेकिन लोकलएससीओ का मतलब यह होता है कि लोकल + एससीओ यानी आपके पास किसी लोकल ऑडियंस से अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक ला रहे हैं तो उस ट्रैफिक को एस लोकल एस यू में देखा जाता है।

लोकल एससीओ का मतलब यह है कि आपके पास मान लेते हैं लोकल कोई बिजनेस (Bussines) है जैसे कि आपके पास एक दुकान (Shop) है जहां के लोग आपके दुकान पर अक्सर आते रहते हैं तब ऐसे में आप अपनी वेबसाइट को ऑप्टिमाइज कर सकते हैं कुछ ऐसे रियल लाइफ (Real Life) में भी आपके पास एससीओ करने की आसानी (Easy) होती है जैसे कि आप किसी लोकल एरिया को टारगेट कर सकते हैं और अपने साइट को ऐसी ऑप्टिमाइज (Optimize) कर सकते हैं जिसे हम लोकल एससीओ (Local SEO)कहते हैं।।।

SEO क्या है और SEO कैसे करते हैं अगर यह आर्टिकल (Article) आपको अच्छा लगा तो नीचे कमेंट (Comment) करना ना भूले और हमारे वेबसाइट पर टेक्निकल (Technical) और कमाई (Earning) के रिलेटेड (Related) और भी आर्टिकल (Article) लिखे हुए हैं जिन्हें आप पढ़ सकते हैं, तब तक के लिए BYE :

Leave a Comment